Crypto News: क्रिप्टोकरेंसी मार्केट में भूचाल! 1 साल में Bitcoin 75% लुढ़का, जानें बाकी क्रिप्‍टोकरेंसी का हाल

Bitcoin Price: पॉपुलर क्रिप्टोकरेंसी बिटकॉइन के प्राइस में जबरदस्त गिरावट दर्ज की जा रही है. पिछले साल इसका प्राइस 69,000 डॉलर था जो अब घटकर केवल 16,000 डॉलर पहुंच चुका है.

By: ABP Live | Updated at : 10 Nov 2022 12:50 PM (IST)

Bitcoin Prices Crash: क्रिप्टोकरेंसी बाजार (Cryptocurrency Market) में पिछले कुछ दिनों से भारी उथल-पुथल हो रही है. Binance FTX डील खत्म होने के बाद से ही बिटकॉइन के प्राइस (Bitcoin Prices) में जबरदस्त गिरावट देखने को मिल रही है. मंगलवार को जो भारी गिरावट का सिलसिला शुरू हुआ वह बुधवार को भी जारी रहा है.

आज बिटकॉइन के प्राइस में शुरुआती दौर में गिरावट दर्ज की गई और यह 16,000 डॉलर के नीचे आ गया था, लेकिन फिलहाल इसमें तेजी दर्ज की जा रही है. यह फिलहाल बुधवार को 16,676 डॉलर पर ट्रेंड कर रहा था. वहीं Ether की बात करें तो इसके प्राइस में 6.3% की गिरावट दर्ज की गई है और यह रिकॉर्ड स्तर 1,169 डॉलर पर पहुंच गया है.

Bitcoin में दर्ज की गई जबरदस्त गिरावट
गौरतलब है कि दुनिया की सबसे पॉपुलर क्रिप्टोकरेंसी बिटकॉइन (Bitcoin Price) के प्राइस में जबरदस्त गिरावट दर्ज की जा रही है. पिछले साल इसका प्राइस 69,000 डॉलर था जो अब घटकर केवल 16,000 डॉलर पहुंच चुका है. ऐसे में इसके प्राइस में करीब 75 फीसदी की भारी गिरावट देखने को मिली है. Bitcoin के प्राइस में इस बड़ी गिरावट के पीछे सबसे बड़ा कारण यह है कि Binance ने यह ऐलान कर दिया है कि वह FTX के साथ होने वाली डील से वह पीछे हट रहा है. इसके बाद से ही निवेशकों में एक घबराहट का माहौल देखा गया और इस कारण क्रिप्टो मार्केट में भारी बिकवाली देखी गई है.

Bitcoin में गिरावट के पीछे का कारण
आपको बता दें FTX में लिक्विडिटी की समस्या के कारण क्रिप्टो पिछले कुछ हफ्तों में करीब 2 ट्रिलियन डॉलर की गिरावट दर्ज की गई है. इसके साथ पीछे कुछ समय दुनियाभर के कई केंद्रीय बैंकों ने अपने मौद्रिक नीति में कठोर किया है. ऐसे में इसका बुरा असर क्रिप्टोकरेंसी मार्केट पर भी पड़ रहा है. FTX के वित्तीय संकट के कारण पहले ही क्रिप्टो मार्केट से करीब 180 बिलियन डॉलर पहले ही साफ हो चुके हैं. इसके साथ ही Altcoin Space, MATIC, AVAX और SOL के प्राइस में डबल डिजिट में गिरावट दर्ज की गई है. इसके साथ ही Binance के FTX के सौदे से बाहर निकले के बाद आने वाले दिनों में क्रिप्टो मार्केट में और बड़ी उथल-पुथल देखी जा सकी है. ऐसे में Bitcoin के निवेशकों को तगड़ा नुकसान हो रहा है.

News Reels

ये भी पढ़ें-

Published at : 10 Nov 2022 12:50 PM (IST) Tags: Bitcoin Cryptocurrency News Crypto News Bitcoin Prices Crash हिंदी समाचार, ब्रेकिंग न्यूज़ हिंदी में सबसे पहले पढ़ें abp News पर। सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट एबीपी न्यूज़ पर पढ़ें बॉलीवुड, खेल जगत, कोरोना Vaccine से जुड़ी ख़बरें। For more related stories, follow: Business News in Hindi

Coinbase सीईओ का आरबीआई पर निशाना: कहा-भारत में यूपीआई के इस्तेमाल से रोका गया, सरकार को लिया आड़े हाथ

क्वाइनबेस के सीईओ ने कहा है कि आरबीआई और सरकार में शामिल लोगों में क्रिप्टो के प्रति सकारात्मक भावना नहीं है, बल्कि ये नकारात्म रुख अख्तियार किए हुए हैं। देश में यूपीआई से होने वाले सभी भुगतान एनपीसीआई के दायरे में आते हैं। उन्होंने कहा कि आरबीआई ने सुप्रीम कोर्ट के आदेश का उल्लंघन किया है।

क्वाइनबेस सीईओ ब्रियन आर्मस्ट्रांग।

देश में क्रिप्टोकरेंसी को लेकर सरकार और भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) अपना सख्त रुख अख्तियार किए हुए है। वहीं अब जीएसटी परिषद भी क्रिप्टोकरेंसी पर भारी टैक्स लगाने की तैयारी में है। इन सबके चलते देश में संचालित क्रिप्टो एक्सचेंज दूसरे ठिकाने तलाशने लगे हैं। अमेरिकी एक्सचेंज क्वाइनवेस भी इसमें शामिल है, जिसे इस सख्ती का सामना करना पड़ा। अब इसके सीईओ ने बयान जारी कर भारत सरकार और आरबीआई पर निशाना साधा है।

नैस्डेक में लिस्टेड नवीनतम Coinbase समाचार है क्वाइनबेस
क्वाइनबेस के सीईओ ब्रियन आर्मस्ट्रांग ने कहा है कि उसे भारत में डिजिटल पेमेंट सिस्टम (यूपीआई) का इस्तेमान करने से रोका गया था। उन्होंने आरबीआई पर निशाना साधते हुए टिप्पणी की है कि लॉन्च होने के कुछ ही दिन बाद भारतीय रिजर्व बैंक आरबीआई के अनौपचारिक दबाव के कारण हमने यूपीआई का इस्तेमाल बंद कर दिया। बता दें कि क्वाइनबेस एक अमेरिकी क्रिप्टो एक्सचेंज है और नैस्डेक में लिस्टेड है।

क्रिप्टो के नवीनतम Coinbase समाचार प्रति नकारात्मक रुख
सात अप्रैल 2022 को ही क्वाइनबेस ने अपनी सेवाओं को भारत में लॉन्च किया था। लेकिन इसकी शुरुआत के बाद नेशनल पेमेंट्स कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (एनपीसीआई) ने बड़ा बयान जारी कर दिया। अपने बयान में एनपीसीआई ने कहा कि उसे किसी क्रिप्टो एक्सचेंज के यूपीआई का इस्तेमाल करने के बारे में कोई जानकारी नहीं है। अब क्वाइनबेस के सीईओ ने कहा है कि आरबीआई और सरकार में शामिल लोगों में क्रिप्टो के प्रति सकारात्मक भावना नहीं है, बल्कि ये नकारात्म रुख अख्तियार किए हुए हैं। देश में यूपीआई से होने वाले सभी भुगतान एनपीसीआई के दायरे में आते हैं।

सुप्रीम कोर्ट के आदेश का उल्ल्ंघन
आर्मस्ट्रांग ने कहा कि भारत क्रिप्टोकरेंसी के लिहाज से एक बड़ा और खास बाजार है। उच्चतम न्यायालय ने भी फैसला किया है कि देश में क्रिप्टो को बैन नहीं किया जा सकता है। लेकिन सरकार में शामिल लोग और खासतौर से आरबीआई क्रिप्टो को लेकर सख्त हैं। उन्होंने कहा कि आरबीआई का यह कदम दरअसल, सुप्रीम कोर्ट के आदेश का सीधा उल्लंघन है। हम आरबीआई के साथ मिलकर काम करना चाहते हैं और फिर से क्वाइनबेस को भारत में लॉन्च करने पर विचार कर रहे हैं। इसके अलावा हम दूसरे भुगतान विकल्पों पर भी ध्यान दे रहे हैं।

एनपीसीआई के रडार पर क्रिप्टो एक्सचेंज
दरअसल, देश में यूपीआई पेमेंट की निगरानी करने वाले एनपीसीआई के रडार पर आने के बाद पहले अमेरिका बेस्ड क्रिप्टो एग्रिगेटर क्वाइनबेस पर शिकंजा कसा गया था। गौरतलब है कि नेशनल पेमेंट्स कार्पोरेशन ऑफ इंडिया (एनपीसीआई) के बयान के बाद बैंकों ने सबसे पहले क्वाइनबेस पर यूपीआई ट्रांजैक्शन को रोक दिया था और फिर क्वाइनस्विच कुबेर पर भी सख्ती कर दी गई। दरअसल, भारत में क्रिप्टोकरेंसी लीगल टेंडर नहीं है और सरकार ने भी आगाह किया है कि बिना नियामक के क्रिप्टोकरेंसी में निवेश के बाद जोखिम निवेशक का होगा।

विस्तार

देश में क्रिप्टोकरेंसी को लेकर सरकार और भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) अपना सख्त रुख अख्तियार किए हुए है। वहीं अब जीएसटी परिषद भी क्रिप्टोकरेंसी पर भारी टैक्स लगाने की तैयारी में है। इन सबके चलते देश में संचालित क्रिप्टो एक्सचेंज दूसरे ठिकाने तलाशने लगे हैं। अमेरिकी एक्सचेंज क्वाइनवेस भी इसमें शामिल है, जिसे इस सख्ती का सामना करना पड़ा। अब इसके सीईओ ने बयान जारी कर भारत सरकार और आरबीआई पर निशाना साधा है।

नैस्डेक में लिस्टेड है क्वाइनबेस
क्वाइनबेस के सीईओ ब्रियन आर्मस्ट्रांग ने कहा है कि उसे भारत में डिजिटल पेमेंट सिस्टम (यूपीआई) का इस्तेमान करने से रोका गया था। उन्होंने आरबीआई पर निशाना साधते हुए टिप्पणी की है कि लॉन्च होने के कुछ ही दिन बाद भारतीय रिजर्व बैंक आरबीआई के अनौपचारिक दबाव के कारण हमने यूपीआई का इस्तेमाल बंद कर दिया। बता दें कि क्वाइनबेस एक अमेरिकी क्रिप्टो एक्सचेंज है और नैस्डेक में लिस्टेड है।

क्रिप्टो के प्रति नकारात्मक रुख
सात अप्रैल 2022 को ही क्वाइनबेस ने अपनी सेवाओं को भारत में लॉन्च किया था। लेकिन इसकी शुरुआत के बाद नेशनल पेमेंट्स कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (एनपीसीआई) ने बड़ा बयान जारी कर दिया। अपने बयान में एनपीसीआई ने कहा कि उसे किसी क्रिप्टो एक्सचेंज के यूपीआई का इस्तेमाल करने के बारे में कोई जानकारी नहीं है। अब क्वाइनबेस के सीईओ ने कहा है कि आरबीआई और सरकार में शामिल लोगों में क्रिप्टो के प्रति सकारात्मक भावना नहीं है, बल्कि ये नकारात्म रुख अख्तियार किए हुए हैं। देश में यूपीआई से होने वाले सभी भुगतान एनपीसीआई के दायरे में आते हैं।

सुप्रीम कोर्ट के आदेश का उल्ल्ंघन
आर्मस्ट्रांग ने कहा कि भारत क्रिप्टोकरेंसी के लिहाज से एक बड़ा और खास बाजार है। उच्चतम न्यायालय ने भी फैसला किया है कि देश में क्रिप्टो को बैन नहीं किया जा सकता है। लेकिन सरकार में शामिल लोग और खासतौर से आरबीआई क्रिप्टो को लेकर सख्त हैं। उन्होंने कहा कि आरबीआई का यह कदम दरअसल, सुप्रीम कोर्ट के आदेश का सीधा उल्लंघन है। हम आरबीआई के साथ मिलकर काम करना चाहते हैं और फिर से क्वाइनबेस को भारत में लॉन्च करने पर विचार कर रहे हैं। इसके अलावा हम दूसरे भुगतान विकल्पों पर भी ध्यान दे रहे हैं।


एनपीसीआई के रडार पर क्रिप्टो एक्सचेंज
दरअसल, देश में यूपीआई पेमेंट की निगरानी करने वाले एनपीसीआई के रडार पर आने के बाद पहले अमेरिका बेस्ड क्रिप्टो एग्रिगेटर क्वाइनबेस पर शिकंजा कसा गया था। गौरतलब है कि नेशनल पेमेंट्स कार्पोरेशन ऑफ इंडिया (एनपीसीआई) के बयान के बाद बैंकों ने सबसे पहले क्वाइनबेस पर यूपीआई ट्रांजैक्शन को रोक दिया था और फिर क्वाइनस्विच कुबेर पर भी सख्ती कर दी गई। दरअसल, भारत में क्रिप्टोकरेंसी लीगल टेंडर नहीं है और सरकार ने भी आगाह किया है कि बिना नियामक के क्रिप्टोकरेंसी में निवेश के बाद जोखिम निवेशक का होगा।

लूनो: नवीनतम क्रिप्टो समाचार जानने, निवेश करने, खरीदने, स्टोर करने, अन्वेषण करने और बिटकॉइन (बीटीसी) और एथेरियम (ईटीएच) सहित क्रिप्टोकरेंसी अर्जित करने के लिए सीखने का आसान और सुरक्षित तरीका

बिटकॉइन के लिए नया? एक उन्नत क्रिप्टोक्यूरेंसी व्यापारी? नवीनतम क्रिप्टो समाचार चाहते हैं? हमारा क्रिप्टो वॉलेट, बिटकॉइन सेवा को तुरंत बेचना और खरीदना, और क्रिप्टो ट्रेडिंग एक्सचेंज बिटकॉइन और अन्य डिजिटल मुद्राओं जैसे एथेरियम को खरीदने के लिए एक सुरक्षित और सुरक्षित मंच प्रदान करता है। 40+ देशों में 10 मिलियन से अधिक ग्राहकों के साथ, 500+ समर्पित व्यक्तियों की हमारी वैश्विक टीम आपकी क्रिप्टो ट्रेडिंग यात्रा को सरल बनाने के लिए यहां है ताकि आप निवेश करना सीख सकें। चाहे आप अपना पहला बिटकॉइन खरीदें, या सही क्रिप्टोक्यूरेंसी ट्रेडिंग रणनीति निष्पादित करें या आसानी से क्रिप्टो समाचार खोजें, लूनो यहाँ है। मूल्य अलर्ट के साथ आपको अपने बिटकॉइन निवेश के शीर्ष पर बने रहने के लिए पुश सूचनाएं प्राप्त होंगी।

बिटकॉइन खरीदें और क्रिप्टो आसानी से नवीनतम Coinbase समाचार नवीनतम Coinbase समाचार खरीदें

क्रिप्टोक्यूरेंसी के लिए नया है या ट्रेडिंग के लिए प्रतिबद्ध होने का समय नहीं है? हमारी तत्काल खरीद और बिक्री सुविधा क्रिप्टो ट्रेडिंग की जटिलता को दूर करती है और आपको सिखाती है कि हमारे क्रिप्टो वॉलेट के साथ क्रिप्टो कैसे खरीदें। बिटकॉइन (बीटीसी) और एथेरियम (ईटीएच) सहित क्रिप्टोकरेंसी तक त्वरित पहुंच प्राप्त करें, यह समझने की आवश्यकता नहीं है कि बिटकॉइन कैसे खरीदें और बेचें या एक्सचेंज पर जटिल ट्रेडों में कैसे निवेश करें।

बिटकॉइन मूल्य अलर्ट सेट करें या उन्नत चार्टिंग का उपयोग करें

उन्नत क्रिप्टोक्यूरेंसी चार्टिंग से, साधारण बिटकॉइन मूल्य अपडेट तक, लूनो सभी को पूरा करता है। अपने निवेश के शीर्ष पर बने रहने के लिए मूल्य अलर्ट सेट करें ताकि यदि बाजार चलता है तो आप क्रिप्टो खरीद सकते हैं, या हमारे क्रिप्टो ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म और क्रिप्टो वॉलेट के माध्यम से अगले बिटकॉइन मूल्य परिवर्तन की योजना बना सकते हैं।

हमारे क्रिप्टो वॉलेट और बीटीसी वॉलेट के साथ अपने क्रिप्टोकुरेंसी फंड को सुरक्षित रूप से सुरक्षित करें

लूनो सुरक्षा और उपयोगकर्ता सुरक्षा पर ध्यान केंद्रित करता है, एक सरल और सुरक्षित क्रिप्टो ट्रेडिंग प्रदान करता है और क्रिप्टो को स्टोर और खरीदने का एक तरीका प्रदान करता है। चाहे बिटकॉइन वॉलेट, एथेरियम वॉलेट या कोई अन्य क्रिप्टो वॉलेट आप आसानी से सो सकते हैं यह जानकर कि आपकी क्रिप्टोकरेंसी सुरक्षित है, अपने क्रिप्टो वॉलेट में अपनी निजी कुंजी खोने की चिंता करने की कोई आवश्यकता नहीं है।

नवीनतम क्रिप्टो समाचार पर अद्यतित रहें

क्या आपने लोगों को ब्लॉकचेन वॉलेट और सिक्कों के बारे में बात करते सुना है? लूनो एक क्रिप्टो ट्रेडिंग और निवेश मंच से कहीं अधिक है। नवीनतम क्रिप्टो समाचार, अपडेट और क्रिप्टोक्यूरेंसी लर्निंग प्लेटफॉर्म की विशेषता वाले हमारे एक्सप्लोर सेक्शन के साथ क्रिप्टो और क्रिप्टो खरीदना सीखें।

लूनो के बारे में

लगभग बिटकॉइन के रूप में लूनो क्रिप्टोकुरेंसी में एक विश्वसनीय व्यापारी रहा है। हमने दुनिया की सबसे परिष्कृत बिटकॉइन सुरक्षा प्रणालियों में से एक का निर्माण किया और कभी समझौता नहीं किया। ब्लॉकचेन या क्रिप्टो वॉलेट के बारे में जानना चाहते हैं? क्या आप जानते हैं कि बिटकॉइन को कैसे बेचना और खरीदना है? नवीनतम क्रिप्टो समाचार चाहते हैं? क्या आप इथेरियम जैसी अन्य क्रिप्टोकरेंसी के बारे में जानते हैं? लूनो के साथ निवेश करना सीखें और क्रिप्टो में निवेश करना शुरू करें। आप हमारे क्रिप्टो निवेश मंच पर क्रिप्टो खरीदने और बिटकॉइन खरीदने के तरीके के बारे में जानेंगे।

क्रिप्टो खरीदने के लिए अपनी यात्रा शुरू करते हुए लूनो ने ग्राहकों के लिए एक सुरक्षित और सरल अनुभव बनाया है। चाहे आपको एक सुरक्षित बिटकॉइन वॉलेट या क्रिप्टो वॉलेट की आवश्यकता हो, बिटकॉइन (बीटीसी) खरीदने का एक आसान तरीका या एथेरियम (ईटीएच) जैसी क्रिप्टोकरेंसी, एक उन्नत क्रिप्टो ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म, या बिटकॉइन और क्रिप्टोकरेंसी के बारे में जानने और जानने के लिए एक सुरक्षित स्थान। नवीनतम क्रिप्टो समाचार, हम आपको मिल गए हैं। ब्लॉकचेन की शक्ति द्वारा समर्थित लूनो एक सुरक्षित और सुरक्षित क्रिप्टो निवेश मंच प्रदान करता है।

क्रिप्टोक्यूरेंसी में निवेश करने से पूंजी का नुकसान हो सकता है क्योंकि मूल्य में उतार-चढ़ाव हो सकता है।

BitCoin का भाव $41,000 के पार, अब तेजी की उम्मीद लगा रहे हैं एक्सपर्ट

BitCoin latest rate: दुनिया की सबसे बड़ी क्रिप्टोकरेंसी में कई दिनों से तेजी दर्ज की जा रही है. गुरुवार को बिटकॉइन का भाव 0.6 फीसदी चढ़कर $41,500 के पार निकल गया है. बुधवार तक 3.26 प्रतिशत की बढ़त दर्ज करते हुए ग्लोबल एक्सचेंज पर BitCoin 41,000 डॉलर या करीब 31 लाख रुपये के भाव पर था.

Bitcoin surpasses $41,000 as technical analysts predict bounce

आ सकती है तेजी
बिटकॉइन के भाव में लगातार दूसरे दिन तेजी दर्ज की गई है. कई अंतरराष्ट्रीय एक्सपर्ट का कहना है कि टेक्निकल इंडिकेटर्स के हिसाब से अब छोटी अवधि में बिटकॉइन का भाव $51000 तक पहुंच सकता है. अगर बिटकॉइन के 200 दिन की के मूविंग एवरेज की बात करें तो यह अभी $48000 के करीब बैठता है.

रेंज में है बिटकॉइन
बिटकॉइन का भाव इस साल 35000 से $45000 के रेंज में ही रहा है. मार्च में bitcoin ने 200 दिन के मूविंग एवरेज को छूने की कोशिश की थी. अगर बिटकॉइन 200 दिन के मूविंग एवरेज से ऊपर निकलता है तो इसमें काफी तेजी देखी जा सकती है. दुनिया भर के कई देशों में हालांकि मौद्रिक पॉलिसी खड़े होने की वजह से सभी रिस्क एसेट में कमजोरी देखी गई है. इस अवधि में हालांकि बिटकॉइन और अन्य टेक्नोलॉजी स्टॉक के भाव में रिकॉर्ड तेजी आई है.

अन्य क्रिप्टो की हालत
ईथर की कीमत 3,251 डॉलर या करीब 2.5 लाख रुपये है, वहीं ग्लोबल एक्सचेंज पर ईथर क्रिप्टो की कीमत 3,119 डॉलर या करीब 2.4 लाख रुपये है. यह कॉइन पिछले 24 घंटे में पिछले साल की तुलना में 2.25 प्रतिशत बढ़ गया है. रिपोर्ट के अनुसार पिछले एक हफ्ते में क्रिप्टोकरेंसी की कीमत अब भी 1.4 प्रतिशत नीचे है. अधिकतर एल्टकॉइन ने बुधवार को बेहतर प्रदर्शन किया है. पिछले 4 घंटों में ग्लोबल क्रिप्टो मार्केट कैप में 2.31 प्रतिशत की ग्रोथ दर्ज की गई है.

रेटिंग: 4.17
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 442